sterlizationuVGFtHUuSHP5JkvuKnbLrONN6L2T1ftcUrsBElwyQ5BP9-iE8o0tp-1PwfQlzfw7bmxVBYlGPhlBp_oVte6PF_z6mfIx_8bBUws-MU7BSaDbK_jl3g5zdKrwUQ=s0-d-e1-ft.jpg

नसबंदी के बाद लेटा दिया टेंट हाउस के गंदे गद्दों पर
महिलाओं को जमीन पर लिटाने की होगी जांच

Click here to enlarge image
’ भटहट सीएचसी में नसबंदी अभियान का हाल
भटहट सीएचसी में महिलाओं को टेंट के गंदे गद्दों पर ही लिटा दिया।
गोरखपुर कार्यालय संवाददाताजिले में जोर-शोर से चल रहे नसबंदी अभियान में मरीजों के सुरक्षा मानक पूरी तरह से ताक पर रख दिए गए हैं। शनिवार को भटहट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में महिलाओं को टेंट के गंदे गद्दों पर ही लिटा दिया।गुलरिहा हिन्दुस्तान संवाद के मुताबिक शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में नसबंदी अभियान के अंतर्गत कैंप का आयोजन किया गया। कैंप में 30 महिलाओं ने नसबंदी के लिए पंजीकरण कराया। नसबंदी ऑपरेशन करने के लिए सीएमओ कार्यालय से डॉ. धनन्जय की अगुवाई में टीम पहुंची। सीएचसी प्रभारी डॉ. जेपी कुशवाहा ने टीम के आवभगत का तो इंतजाम किया मगर मरीजों का इंतजाम करने में चूक गए। अस्पताल प्रशासन ने नसबंदी कराने वाली महिलाओं को लेटने के लिए टेंट हाउस से गद्दे मंगाए। टेंट हाउस के गद्दे व चद्दर धूल व गंदगी से भरे थे। ऑपरेशन कराने वाली महिलाएं यह देखकर गुस्सा गई। मजबूरी में उन्हें उसी गंदे गद्दों पर लेटना पड़ा। इस मसले पर सीएचसी प्रभारी कुछ भी कहने से बचते रहे।
’ 30 ने नसबंदी के लिए पंजीकरण कराया
’ ऑपरेशन कराने पहुंची महिलाओं में दिखा गुस्सा
गोरखपुर। बांसगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाने के मामला तूल पकड़ा जा रहा है। घटना गुरुवार की है। सीएमओ ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। एडिशनल सीएमओ डॉ. एसके पांडेय के नेतृत्व में गठित तीन सदस्यीय टीम तीन दिन में जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी, जिसके आधार पर दोषी पर कार्रवाई की जाएगी। बांसगांव स्वास्थ्य केंद्र पर गुरुवार को नसबंदी के बाद 36 महिलाओं को फर्श पर लिटा दिया गया था। इसके पहले खजनी स्वास्थ्य केंद्र पर भी ऐसा ही मामला सामने आया था। तब महिलाओं को नसबंदी के बाद खुले में लिटाया गया था।
http://epaper.livehindustan.com/story.aspx?id=979846&boxid=51254440&ed_date=2016-03-13&ed_code=80&ed_page=8

महिलाओं को जमीन पर लिटाने की होगी जांच

Click here to enlarge image’ भटहट सीएचसी में नसबंदी अभियान का हालभटहट सीएचसी में महिलाओं को टेंट के गंदे गद्दों पर ही लिटा दिया।

गोरखपुर कार्यालय संवाददाताजिले में जोर-शोर से चल रहे नसबंदी अभियान में मरीजों के सुरक्षा मानक पूरी तरह से ताक पर रख दिए गए हैं। शनिवार को भटहट सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में महिलाओं को टेंट के गंदे गद्दों पर ही लिटा दिया।गुलरिहा हिन्दुस्तान संवाद के मुताबिक शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में नसबंदी अभियान के अंतर्गत कैंप का आयोजन किया गया। कैंप में 30 महिलाओं ने नसबंदी के लिए पंजीकरण कराया। नसबंदी ऑपरेशन करने के लिए सीएमओ कार्यालय से डॉ. धनन्जय की अगुवाई में टीम पहुंची। सीएचसी प्रभारी डॉ. जेपी कुशवाहा ने टीम के आवभगत का तो इंतजाम किया मगर मरीजों का इंतजाम करने में चूक गए। अस्पताल प्रशासन ने नसबंदी कराने वाली महिलाओं को लेटने के लिए टेंट हाउस से गद्दे मंगाए। टेंट हाउस के गद्दे व चद्दर धूल व गंदगी से भरे थे। ऑपरेशन कराने वाली महिलाएं यह देखकर गुस्सा गई। मजबूरी में उन्हें उसी गंदे गद्दों पर लेटना पड़ा। इस मसले पर सीएचसी प्रभारी कुछ भी कहने से बचते रहे।

’ 30 ने नसबंदी के लिए पंजीकरण कराया

’ ऑपरेशन कराने पहुंची महिलाओं में दिखा गुस्सा

गोरखपुर। बांसगांव सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में नसबंदी के बाद महिलाओं को जमीन पर लिटाने के मामला तूल पकड़ा जा रहा है। घटना गुरुवार की है। सीएमओ ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। एडिशनल सीएमओ डॉ. एसके पांडेय के नेतृत्व में गठित तीन सदस्यीय टीम तीन दिन में जांच कर रिपोर्ट सौंपेगी, जिसके आधार पर दोषी पर कार्रवाई की जाएगी। बांसगांव स्वास्थ्य केंद्र पर गुरुवार को नसबंदी के बाद 36 महिलाओं को फर्श पर लिटा दिया गया था। इसके पहले खजनी स्वास्थ्य केंद्र पर भी ऐसा ही मामला सामने आया था। तब महिलाओं को नसबंदी के बाद खुले में लिटाया गया था।

Related posts