Bhopal – The meeting was jointly organised by progressive writers association (PWA) and IPTA  (Indian People’s Theatre Association). The topic was ‘Students Movement: Challenges and Potential’
The State president of IPTA and  a well known poet Hariom Rajoria  wrongly condemned the illegal arrest of anti mining activist , writer and filmmaker debranjan sarangi . PWA an IPTA jointly issued the statement.
IMG_8751भोपाल में २ अप्रैल २०१६ को प्रगतिशील लेखक संघ के भगत सिंह की स्मृति में आयोजित कार्यक्रम में और अशोकनगर में 4 अप्रैल 2016 को प्रगतिशील लेखक संघ और इप्टा की संयुक्त बैठक में यह प्रस्ताव पारित किया गया कि उड़िया के प्रसिद्ध लेखक, डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माता और मानव अधिकार कार्यकर्ता देबरंजन षड़ंगी को पुलिस ने बेबुनियाद आरोपों की बिना पर गिरफ्तार किया है, वह अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला है और सरकार की फासीवादी मंशाओं को उजागर करता है. प्रस्तावना मांगी गई कि उन पर लगे सभी आरोपों को निरस्त किया जाना चाहिए और उन्हें तत्काल रिहा किया जाना चाहिए.

भोपाल की बैठक में प्रगतिशील लेखक संघ के महासचिव लज्जा शंकर हरदेनिया शैलेंद्र शैली श्री महेंद्र सिंह अनिल कर मेले जनवादी लेखक संघ के श्री रामप्रकाश त्रिपाठी श्री राजेश जोशी, नागपुर के मानवाधिकार कार्यकर्ता श्री सुरेश खैरनार एवं अन्य अनेक लेखक, कला कर्मी और संस्कृतिकर्मी मौजूद थे.

12939364_10156717219185368_2052414640_nअशोकनगर की बैठक में इप्टा के प्रांतीय अध्यक्ष श्री हरिओम राजोरिया, प्रगतिशील लेखक संघ के प्रांतीय महासचिव विनीत तिवारी, जनवादी लेखक संघ के श्री सुरेंद्र रघुवंशी, भारतीय महिला फेडरेशन की पूर्व प्रांतीय अध्यक्ष डॉ अर्चना, सुश्री सीमा राजोरिया सहित अनेक विद्यार्थी, नौजवान, कलाकार व साहित्यकार मौजूद थे. – विनीत तिवारी – हरिओम राजोरिया – महेंद्र सिंह – शैलेन्द्र शैली

Related posts