Created By : नेशनल दस्तक ब्यूरो

एक बूथ पर सिर्फ 271 वोट पड़े, EVM ने दिखाया 2699 वोट

यूपी। हाल ही में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद ईवीएम मशीन पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं। जिसको लेकर पार्टियां इसकी जांच कराने की मांग तक कर चुकी है। ईवीएम मशीने में हुई गड़बड़ी को लेकर पहले भी सवाल उठ चुके है। बताया जा रहा है कि चौथे चरण में इलाहाबाद की सोरांव विधान सभा के एक बूथ अभिलेख के अनुसार 271 वोट पड़े लेकिन ईवीएम मशीन ने उसे 2699 वोट दिखा दिया।

 

उससे भी आश्चर्य की बात रह रही की इस बूथ पर कुल मतदाताओ की संख्या 1080 ही है। इस मामले को लेकर जब बूथ के कुछ लोगों ने मीडियाकर्मियों को जानकारी दी तो सच सामने आया। जिला निर्वाचन अधिकारी संजय कुमार ने पूरा घटनाक्रम बताया तो मामला खुल सका।

 

बताया जा रहा है कि सोरांव विधानसभा क्षेत्र के जिस बूथ संख्या 13 पर यह वाकया हुआ, वहां कुल 1080 मतदाता थे। सुबह 7 बजे मतदान शुरू हुआ और जब 11 बजे मतदान कार्मियों ने ईवीएम से मतदान संख्या मिलान के लिये रूटीन चेकिंग की तो उनके होश उड़ गये। मशीन के अनुसार 2699 वोट पड़ चुके थे। कर्मचारियों में अचानक हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सूचना अधिकारियों को दी गई तो मौके पर इंजीनियरों की टीम पहुंच गई।

 

 

इस पर अधिकारियों ने अभिलेख चेक किया तो 11 बजे तक कागजों के अनुसार 271 वोट डाले जा चुके थे, लेकिन मशीन पर आंकड़ा 2699 दर्शा रहा था। सेक्टर मजिस्ट्रेट से लेकर रिटर्निंग अफसर के होश उड़ गये। मौके पर पहुंचे ईवीएम की मरम्मत करने वाली बेल कंपनी के इंजीनियर ने मशीन की जांच की तो इसे तकनीकी खामी बताया।

 

कैसे हुआ ज्यादा मतदान दरअसल सोरांव विधानसभा क्षेत्र के जिस बूथ संख्या 13 पर यह वाकया हुआ, वहां कुल 1080 मतदाता थे। सुबह 7 बजे मतदान शुरू हुआ और जब 11 बजे मतदान कार्मियों ने ईवीएम से मतदान संख्या मिलान के लिये रूटीन चेकिंग की तो उनके होश उड़ गये। मशीन के अनुसार 2699 वोट पड़ चुके थे। कर्मचारियों में अचानक हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सूचना अधिकारियों को दी गई तो मौके पर इंजीनियरों की टीम पहुंच गई।

बदली गई मशीन अधिकारियों ने अभिलेख चेक किया तो 11 बजे तक कागजों के अनुसार 271 वोट डाले जा चुके थे, लेकिन मशीन पर आंकड़ा 2699 दर्शा रहा था। सेक्टर मजिस्ट्रेट से लेकर रिटर्निंग अफसर के होश उड़ गये। मौके पर पहुंचे ईवीएम की मरम्मत करने वाली बेल कंपनी के इंजीनियर ने मशीन की जांच की तो इसे तकनीकी खामी बताया ।

चिप में सही वोट का दावा इंजीनियर ने बताया कि अभी तक जितने वोट पड़े हैं, चिप में उतने वोट ही सामने आएंगे। डिस्प्ले में गलत संख्या दिखाई देना तकनीकी खामी है। चेकिंग के बाद मतदान के लिए दूसरी ईवीएम मशीन लगाई गई। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट निर्वाचन आयोग को सीधे नहीं भेजी गई, इसलिये आधिकारिक तौर पर मीडिया के सामने भी यह तथ्य नहीं पेश किया गया। लेकिन रिटर्निंग अफसर ने अपनी रिपोर्ट में पूरी जानकारी दर्ज करा दी है।

 

वहीं, इंजीनियर ने बताया कि अभी तक जितने वोट पड़े हैं, चिप में उतने वोट ही सामने आएंगे। डिस्प्ले में गलत संख्या दिखाई देना तकनीकी खामी है। चेकिंग के बाद मतदान के लिए दूसरी ईवीएम मशीन लगाई गई। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रिपोर्ट निर्वाचन आयोग को सीधे नहीं भेजी गई, इसलिये आधिकारिक तौर पर मीडिया के सामने भी यह तथ्य नहीं पेश किया गया। लेकिन रिटर्निंग अफसर ने अपनी रिपोर्ट में पूरी जानकारी दर्ज करा दी है।Read more at: http://hindi.oneindia.com/news/uttar-pradesh/evm-showed-number-votes-more-than-voters-399175.html

Related posts